हस्तमैथुन का इलाज। Hastmaithun Ka Ilaj

hasthmathun-ka-ilaj

हस्तमैथुन यौन संतुस्टी के लिए हाथो या अन्य किसी वास्तु से गुप्तांग पर इस्तमाल करके आनंद के प्राप्ति करना है। पुरुष हाथो से या आधुनिक उपकरणों से सम्भोग का आनन्द लेते है और महिलाये अपनी ऊँगली या लिंग के प्रकार की कोई भी चीज को लेकर आनद लेती है। इसमें कुछ गलत नहीं है। युवा अवस्था में अपने गुप्तांगो को लेकर उत्तेजित होना स्वाभाविक है।

क्या हस्तमैथुन करना सही है | Kya Hastmaithun karna sahi hai

सही तो नहीं पर गलत भी नहीं कह सकते। अति तो हर चीज की बुरी होती है। अगर आप महीने में 3 से 4 बार करते है तो कोई बात नहीं । अगर इस से ज्यादा कर रहे है तो चिंता का विषय है।

हस्थमैथुन पर आयुर्वेद की राय। Ayurvedic View on Ayurveda

आयुर्वेद में किसी भी प्रकार का अप्राकृतिक सम्भोग को गलत माना गया है। जिस प्रकार चीनी-गन्ने में चीनी सर्व होती है, दूध में मक्खन, उसी प्रकार वीर्य भी पूरे शरीर में व्याप्त होता है। जिस प्रकार मक्खन निकालने के बाद मक्खन-दूध पतला होता है, उसी प्रकार वीर्ये के अपव्यय से भी वीर्य पतला होता है। आयुर्वेद के अनुसार रक्त की 80 बूंदों से एक बून्द वीर्ये बनता है। जितना वीर्य का अपव्यय होता है उतना ही कमजोरी आती है।

हस्तमैथुन की लत के कारण। Hastmaithun ki lat ke karan

  1. वयस्क सामग्री देखना और पढ़ना
  2. अकेलापन
  3. जीवन में लक्ष्य की कमी
  4. गलत सांगत

अत्यधिक हस्तमैथुन के नुकसान | Atyadhik Hastmaithun ke nuksan

  1. शारीरिक कमजोरी
  2. ध्यान की कमी
  3. यादाश कमजोर होना
  4. आत्म विश्वास की कमी
  5. लम्बे समय तक करने से नामर्दी और अन्य सेक्स समस्याए भी हो सकती है।

हस्तमैथुन का इलाज। Hastmaithun ka ilaj

हस्तमैथुन का इलाज के कई तरिके है जैसे हस्थमैथुन छोड़ने के उपाय, हस्थमैथुन छोड़ने के लिए योग और हस्थमैथुन का आयुर्वेदिक इलाज। पर ये सभी तरीका तब कामयाब है। जब आप

हस्थमैथुन छोड़ने के उपाय। Hastmaithun Chodne ke upay

आप केवल इन उपायों से और पके इरादे से हस्तमैथुन पर विजय प्राप्त कर सकते है।

  1. जल्दी उठे और जल्दी सोये
  2. दिनचर्या बनाये
  3. अपनी संगति बदले
  4. प्रेरणादायी किताबें पढ़े
  5. खुद को पुरस्कार न दे
  6. परिवार के साथ समय बितायें

हस्थमैथुन छोड़ने के लिए योग। Hastmaithun Chodne ke liye Yog

अगर आप हस्तमैथुन छोड़ना चाहते है तो योग आज ही शुरू करे। अनामविलोम और कपालभाति से शुरुआत करे इन्हे करने से आपका मन साफ होगा और शांति मिलेगी। उगते हुए सूरज की और मुँह करके सूर्यनमस्कार करे, पुरे शरीर का व्यायाम होगा और बल और बूढी का विकास होगा। आप हस्तमैथुन करना अपने आप छोड देंगे।

हस्थमैथुन छोड़ने के आयुर्वेदिक इलाज। Hastmaithun chodne ke Ayurvedic ilaj

Hastmaithun chodne ke Ayurvedic ilaj

अश्वगंधा, त्रिफला, कौंच बीज, गौखरु, आंवला, विजया भस्म, तालमखाना आदि ऐसी जड़ी बुटिया जिनके सतुंलित मात्रा में खाने से आपके शरीर में वेग को सांत करके मन को सांत करने में सहायता करंगे और आत्मनियंत्रण करना आसान हो जायेगा। हमारा कामा सैयाम कोर्स आपको इन्ही जड़ी बूटियों का उत्तम मेल है। आप इसकी एक-एक चमच सुबह शाम पानी से ले और बहार के खाने का परहेज करे, सादा खाना खाये और पानी ज्यादा पिए आप का मन हस्थमैथुन का केरगा ही नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *